नेपाल के प्रधानमंत्री ने भगवान श्री राम और अयोध्या को जोड़ा नेपाल से; संतो ने फूंका पुतला

उत्तर प्रदेश (राज ठाकुर राजावत – वृन्दावन) :: विवादित बयान को लेकर काशी विद्वत परिषद एवं नेपाली परिषद की बैठक मोतीझील श्री गुरु कार्ष्णि कृपा धाम मोतीझील वृंदावन पर रखी गई जिसमें नेपाली समाज के वरिष्ठ धर्मात्मा एवं काशी विद्वत परिषद के बृज मंडल के सदस्यों ने नेपाली प्रधानमंत्री के इस बयान की घोर निंदा की डॉ मनोज मोहन शास्त्री ने कहा के ओली की बोली नहीं है यह चीन की बहकाए हुए गोली की बोली नेपाल के प्रधानमंत्री होली बोल रहे हैं, यह निर्णय किसी भी कीमत से मान्य नहीं किया जाएगाl

संजीव कृष्ण ठाकुर ने कहा कि नेपाल से भारत का बहुत बड़ा नाता है सीता माता नेपाल की थी इसीलिए हमारा ननिहाल नेपाल में है तो हम लोग भांजे हैं ननिहाल पक्ष से प्रेम करते हैं यदि ननिहाल पक्ष मामा लोग नहीं मानेंगे तो कृष्ण ने मथुरा में कंस मामा को जैसे सबक सिखाया था उसी तरह से हम भांजे भी नेपाल को फिर सबक सिखाने में पीछे नहीं हटेंगेl

काशी विद्वत परिषद पश्चिमी भारत के प्रभारी कार्ष्णि नागेंद्र महाराज ने कहा नेपाल के प्रधानमंत्री ने यह जो वक्तव्य दिया है ना ही तो यह शास्त्रोक्त है ना ही इतिहास में कहीं इसका वर्णन है यह मनगढ़ंत बयान है जो कि चीन के कहने पर इसने दिया है चीन ने इनको प्रलोभन दिखाया होगा इस वजह से यह वक्तव्य नेपाल के प्रधानमंत्री ने बोला लेकिन नेपाल के लोगों को समझना चाहिए नेपाल के प्रधानमंत्री को समझना चाहिए कि चीन की चाल में तिब्बत फसा था तो तिब्बत के लोग आज दर-दर भटक रहे हैं भारत में शरणार्थी हैं उसी प्रकार से यह नेपाल को भी तबाह बर्बाद कर देंगे और वहां के लोगों को दर-दर भटकने के लिए मजबूर कर देगा चीन यह चीन, नीच है इसलिए इससे सावधान रहना चाहिएl अनुराग कृष्ण शास्त्री कन्हैया ने कहा चीन की यह चाल है और इस चाल की फिरकी में आकर के नेपाल फस चुका है और इसका हम सभी धर्म आचार्य खुलकर विरोध करते हैं बैठक में सभी ने निर्णय लिया कि नेपाल के प्रधानमंत्री का पुतला फूंका जाए तो नेपाल के प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया उपस्थित रहे लोगl डॉ मनोज मोहन शास्त्री संजीव कृष्ण ठाकुर जी अनुराग कृष्ण शास्त्री कार्ष्णि नागेंद्र महाराज विपिन बापू शिवांश भाई कृष्ण, नेपाली समाज से कथा व्यास हरी शरण उपाध्याय ने कहा कि हम सब नेपाली समाज नेपाल के प्रधानमंत्री औली के इस बयान की घोर निंदा करते हैं राम अयोध्या में के हैं अयोध्या के ही रहेंगे और इसकी हम घोर निंदा करते हैं और नेपाल में भी हम सब लोगों से कहेंगे कि औली के इस बयान का विरोध करें नेपाली समाज के अध्यक्ष राजकमलओझा नारायण दास नागा वृन्दावन दास, विष्णु प्रिया आचार्य युवराज, बद्री कृष्ण दास आदि उपस्थित रहेl

Source :: vannewsagency

CATEGORIES

COMMENTS

Wordpress (0)
Disqus ( )